देश में क्रांतिकारियों की स्मृति को चिरस्थाई बनाने के लिए बनाये जा रहे हैं स्मारक

इंदौर|मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर में आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह में ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर सम्बोधित करते हुए उन्होंने नागरिकों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि यह अविस्मरणीय क्षण है जब हम देश की आजादी के अमृत महोत्सव के तहत गणतंत्र दिवस मना रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश को आजादी दिलाने में अहिंसा वादियों के साथ ही क्रांतिकारियों का भी अहम योगदान था। इनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में क्रांतिकारियों की स्मृति को चिरस्थाई बनाए रखने के लिए अनेक महत्वपूर्ण कार्य किए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि देश की आजादी में मध्य प्रदेश के वीरों का भी योगदान था। उन्होंने प्रदेश के क्रांतिकारियों का उल्लेख करते हुए कहा कि प्रदेश में उनके स्मारक बनाए जा रहे हैं। उन्होंने बाबा साहब अंबेडकर को भी याद किया और कहा कि संविधान निर्माण में उनकी अहम भूमिका थी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जनभागीदारी के बगैर कोई भी जन कल्याणकारी योजनाओं और कार्यक्रमों का क्रियान्वयन करना मुश्किल है। मुख्यमंत्री श्री चौहान मध्यप्रदेश में कोरोना से निपटने का जनभागीदारी का सफल मॉडल बनाया गया है। कोरोना का मुकाबला जन सहयोग से बेहतर रूप से किया गया है। इंदौर की जनता ने भी जनभागीदारी का अदभुत मॉडल प्रस्तुत किया है।

सिंचाई तथा पेयजल के लिये पर्याप्त जल की उपलब्धता होगी सुनिश्चित

            मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में सिंचाई तथा पेयजल के लिये पर्याप्त जल की उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है। नर्मदा सहित अन्य बड़ी नदियों के जल को गाँव-गाँव तक पहुंचाया जा रहा है। जल जीवन मिशन के तहत हर एक गाँव में पाईप लाइन बिछाकर हर घर में नल से जल पहुंचाया जायेगा। प्रदेश में अब तक 45 लाख 80 हजार घरों में नल कनेक्शन लगाये जा चुके हैं। प्रदेश में लगभग दो करोड़ घरों में कनेक्शन लगाने का लक्ष्य है।

*जैविक खेती को अपनाने की अपील*

            मुख्यमंत्री ने किसानों से आग्रह किया कि वे जैविक खेती को अपनायें। प्राकृतिक रूप से खेती करें। रासायनिक खादों के असंतुलित उपयोग से जहाँ एक ओर भूमि का स्वास्थ्य खराब हो रहा है, वहीं दूसरी ओर मानव जीवन के स्वास्थ्य पर भी विपरित प्रभाव पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में फसल बीमा एवं प्राकृतिक आपदा की राहत राशि भी लगातार किसानों के खाते में जमा करायी जा रही है।

*सबका होगा अपना घर*

            प्रधानमंत्री आवास योजना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश में अब किसी भी आवासहीन को बगैर आवास के नहीं रहने दिया जायेगा। अब सबका होगा अपना पक्का घर। प्रदेश में राज्य सरकार द्वारा निर्णय लिया गया है कि हर एक आवासहीन को पक्का मकान अथवा जमीन मुहैया करायी जायेगी।

*अगले वर्ष से मेडिकल एवं इंजीनियरिंग की पढ़ाई भी हिन्दी में करायी जाएगी*

            मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में संत श्री रविदास जयंती 16 फरवरी से लेकर बाबा साहब अम्बेडकर की जयंती 14 अप्रैल तक अनुसूचित जाति के कल्याण के अनेक कार्यक्रम चलाये जाएंगे। उन्होंने कहा कि जहां एक ओर अनुसूचित जाति और जनजाति के समग्र कल्याण पर ध्यान दिया जा रहा है वहीं दूसरी ओर जरूरतमंद सामान्य वर्गों के लोगों और अन्य पिछड़ा वर्गों के लोगों के कल्याण पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। सामान्य वर्ग तथा पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग का गठन किया गया है। सभी वर्गों का विकास हमारी सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में किये जा रहे नवाचारों की जानकारी दी और कहा कि प्रदेश में सुविधायुक्त सीएम राइज स्कूल खोले जाएंगे। अगले वर्ष से मेडिकल एवं इंजीनियरिंग की पढ़ाई भी हिन्दी में करायी जाएगी। देवी अहिल्या विश्वविद्यालय इंदौर को देश के सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों में शामिल कराने के प्रयास किये जा रहे हैं। प्रदेश में समरस ग्राम बनाने का अभियान भी चलाया जायेगा। उन्होंने नागरिकों से वैक्सीन लगवाने, कोविड प्रोटोकाल का पालन करने, जन कल्याण के कार्यों और अभियानों में सहभागी बनने, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं तथा स्वच्छता अभियान में सहयोग देने, आँगनवाड़ियों को गोद लेने, बिजली बचाने, अनाथ बच्चों को गोद लेने, कुपोषण को दूर करने तथा हर शहर हर गाँव का स्थापना दिवस मनाने की अपील भी की।

*इंदौर की सराहना*

            मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इंदौर के विकास कार्यों और नवाचारों की खुलकर सराहना की। उन्होंने कहा कि इंदौर स्वच्छता के क्षेत्र में आइकॉन बन चुका है। स्वच्छता के क्षेत्र में इंदौर में लगातार पाँच बार अव्वल रहा है। इंदौर ने प्रदेश को स्वच्छता की नई दिशा दिखाई है। इंदौर ने कोरोना से निपटने के लिये जनभागीदारी का नया मॉडल प्रस्तुत किया है। यह सराहनीय है। उन्होंने कहा कि इंदौर में स्टार्टअप के क्षेत्र में अदभुत कार्य हो रहे हैं। इंदौर को स्टार्टअप की राजधानी बनाया जायेगा।

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s