वर्ष 2024 तक देश को 50 खरब डालर वाली अर्थव्‍यवस्‍था बनाने का लक्ष्‍य : मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि भारत की अर्थव्‍यवस्‍था उम्‍मीद से ज्‍यादा तेजी से पटरी पर लौट रही है और हाल में किए गए सुधार विश्‍व के लिए संकेत हैं कि नया भारत बाजार और बाजार की ताकत पर विश्‍वास रखता है। श्री मोदी ने विश्‍वास व्‍यक्‍त किया कि सरकार की ओर से हाल ही में किए गए श्रम सुधारों से विनिर्माण और कृषि क्षेत्रों में वृद्धि दर बढाने और सार्थक परिणाम हासिल करने में मदद मिलेगी।
 
एक अंग्रेजी दैनिक को दिए साक्षात्‍कार में श्री मोदी ने कहा कि सरकार ने विनिर्माण क्षेत्र में भारत को सबसे बडा बाजार बनाने के लिए ठोस बुनियाद रखी है और सुधारों की प्रक्रिया जारी रहेगी। उन्‍होंने कहा कि क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज के अनुसार 2020 में अमरीका से 154 नई परियोजनाएं भारत आई हैं जबकि चीन में 86, वियतनाम में 12 और मलेशिया में 15 परियोजनाएं आई हैं। यह भारत की विकास गाथा में विश्‍व के भरोसे का स्‍पष्‍ट संकेत है। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि कार्पोरेट कर में कटौती, कोयला क्षेत्र में वाणिज्यिक खनन की शुरूआत, अंतरीक्ष क्षेत्र को निजी निवेश के लिए खोलने और नागरिक उड्डयन इस्‍तेमाल के लिए हवाई मार्गों पर रक्षा प्रतिबंध हटाने जैसे कुछ कदमों से वृद्धि दर को बढाने में मदद मिलेगी। उन्‍होंने कहा कि निवेश और ढांचागत क्षेत्र को मजबूती देने से अर्थव्‍यवस्‍था को पटरी पर लाने और वृद्धि दर को बढाने में बल मिलना चाहिए। श्री मोदी ने कहा कि सरकार अर्थव्‍यवस्‍था को लगातार गति देने के लिए सभी उपाय करेगी और साथ ही समग्र वृहत आर्थिक स्थिरता पर भी ध्‍यान दिया जायेगा। प्रधानमंत्री ने कहा है कि उन्‍हें आशा है कि कोविड-19 के बावजूद वर्ष 2024 तक देश को 50 खरब डालर वाली अर्थव्‍यवस्‍था बनाने का लक्ष्‍य हासिल कर लिया जाएगा। श्री मोदी ने कहा कि भारत ने कोविड महामारी से निपटने में वैज्ञानिक दृष्टिकोण अपनाया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि संक्रमण के शुरूआती दौर में सम्‍यक उपाय किए जाने से सरकार को इससे बचाव की तैयारी में मदद मिली है। भारत उन देशों में शामिल है जहां कोविड 19 मृत्‍यु दर सबसे कम है। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में संक्रमण से ठीक होने वालों की दर लगातार बढ रही है और उपचाराधीन लोगों की संख्‍या कम हो रही है।
 कोविड-19 महामारी से देश की 130 करोड जनता पर असर
प्रधानमंत्री ने कहा कि कोविड-19 महामारी से देश की 130 करोड जनता पर असर पडा है और सरकार तथा जनता दोनों ही इससे निपटने के लिए मिलकर प्रयास कर रही है। उन्‍होंने कहा कि देश में अब भी कोविड 19 संक्रमण है। इस स्थिति से निपटने के लिए क्षमताओं को बढाने, लोगों को और अधिक जागरूक करने तथा अधिक सुविधाएं देने पर ध्‍यान दिया जाना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि हमें सबसे अच्‍छे की उम्‍मीद करनी चाहिए और सबसे खराब के लिए भी तैयार रहना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि देश में कम हो रहे संक्रमण के मामलों के दौर को खुशी से मनाने की बजाए इससे निपटने के लिए अधिक संकल्‍पबद्ध तथा व्‍यवहार और व्‍यवस्‍थाओं को मजबूती देनी चाहिए। श्री मोदी ने आश्‍वासन दिया कि जैसे ही वैक्‍सीन उपलब्‍ध होगी हर व्‍यक्ति को इसका टीका लगाया जायेगा और कोई भी व्‍यक्ति इससे वंचित नहीं रहेगा।
 आठ महीने तक 80 करोड लोगों को मुफ्त अनाज
प्रधानमंत्री ने पीएम कल्‍याण पैकेज, खाद्यान का मुफ्त वितरण और श्रमिक विशेष रेलगाडियों जैसे कोविड महामारी के दौरान सरकार की ओर से उठाए गए विभिन्‍न उपायों का भी जिक्र किया। उन्‍होंने कहा कि आठ महीने तक 80 करोड लोगों को मुफ्त अनाज और दालों के वितरण मिसाल इतिहास में कहीं नहीं है। उन्‍होंने कहा कि एनडीए सरकार ने हमेशा अपने लक्ष्‍यों को पूरा किया है। श्री मोदी ने कहा कि ग्रामीण स्‍वच्‍छता और गांवों तक बिजली पहुंचाने का लक्ष्‍य समय से पहले पूरा कर लिया गया। आठ करोड उज्‍जवला कनेक्‍शन भी समय से पहले दिए गए।

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s